विजयादशमी के दिन आज जंग में विजय सुनिश्चित करने वाला दुनिया के शक्तिशाली लड़ाकू विमानों में से एक राफेल भारत को मिल गया है। पाकिस्तान में घुसकर आतंकियों पर की गई एयर स्ट्राइक को देखते हुए भारतीय वायुसेना की ताकत अब और बढ़ जाएगी। भारत के रक्षा मंत्री ने फ्रांस से पहला राफेल फाइटर जेट रिसीव किया। कुछ देर बाद फ्रांस के एयरबेस पर ही रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने राफेल लड़ाकू विमान की की विधिवत शस्त्र पूजा भी की। उन्होंने राफेल जेट पर ‘ऊं’ लिखा। भारत को मिले पहले राफेल जेट का नाम वायुसेना प्रमुख राकेश भदौरिया के नाम पर RB 001 रखा गया है। आपको बता दें कि राफेल की डिलिवरी अगले साल मई में होगी क्योंकि भारत में इसे रखने के लिए अभी बुनियादी ढांचा तैयार हो रहा है। राफेल की पूजा का विडियो शेयर करते हुए केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने लिखा, ‘विजयादशमी के शुभ अवसर पर शस्त्र पूजन हमारी परंपरा है और ऐसे शुभ दिन पर राफेल जैसे फाइटर जेट के भारतीय वायु सेना में शामिल होने की PM मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह व समस्त देशवासियों को मेरी शुभकामनाएं। यह विमान देश के शत्रुओं से सुरक्षा को सुनिश्चित करेगा।’ इससे पहले राजनाथ सिंह के साथ वाइस चीफ मार्शल हरजीत सिंह अरोड़ा फ्रांस के बोर्डोक्स स्थित एयरबेस पहुंचे, जहां ‘हैंडओवर कार्यक्रम’ के तहत उन्हें पहला राफेल जेट सौंपा गया। बार्डोक्स पहुचंने पर राफेल का निर्माण करने वाली कंपनी डसॉ एविएशन के सीईओ एरिक ट्रैपियर ने उनका स्वागत किया।

श्री सिंह ने कल पेरिस पहुंचने के बाद ट्वीट किया कि फ्रांस भारत का महत्वपूर्ण रणनीतिक साझेदार है और विशेष संबंध औपचारिक संबंधों के दायरे से बहुत आगे तक जाता है। उनकी फ्रांस यात्रा का उद्देश्य दोनों देशों के बीच मौजूदा रणनीतिक साझेदारी का विस्तार करना है।

फ्रांसीसी राजधानी के एलिसी पैलेस में राष्ट्रपति मैक्रोन के साथ अपनी बातचीत के बाद, श्री सिंह को मर्डिनैक, दक्षिण-पश्चिमी फ्रांसीसी शहर बोर्डो के एक उपनगर में भेजा जाएगा, जहां वह पहले राफेल लड़ाकू जेट के लिए आधिकारिक हैंडओवर समारोह में भाग लेंगे। भारतीय वायु सेना द्वारा अधिग्रहित। यह समारोह भारतीय वायु सेना के स्थापना दिवस और विजया दशमी दिवस के साथ मनाया जाता है जब दशहरा मनाया जाता है।

भारत ने सितंबर 2016 में 59,000 करोड़ रुपये के सौदे में फ्रांस से 36 राफेल फाइटर जेट्स का ऑर्डर दिया था। इस सप्ताह औपचारिक हैंडओवर समारोह होने वाला है, चार राफेल जेट विमानों का पहला बैच मई 2020 तक भारत में अपने घर के लिए उड़ान भरेगा। सितंबर 2022 तक 36 जेट भारत में आने की उम्मीद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *