महाराष्ट्र में औरंगाबाद के पास रेलवे ट्रैक पर 16 प्रवासी मजदूरों की मालगाड़ी की चपेट में आने से मौत हो गई…सभी मजदूर मध्य प्रदेश जा रहे थे. मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र सरकार ने मृतकों के परिजन को 5-5 लाख रु. की सहायता देने का ऐलान किया है. मजदूर जालना की एसआरजे स्टील फैक्ट्री में काम करते थे. औरंगाबाद से गुरुवार को मध्य प्रदेश के कुछ जिलों के लिए ट्रेन रवाना हुई थी. इसी वजह से जालना से ये मजदूर औरंगाबाद के लिए रवाना हुए। रेलवे ट्रैक के बगल में 40 किमी चलने के बाद वे करमाड के करीब थककर पटरी पर ही सो गए. मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने औरंगाबाद रेल हादसे में मारे गये प्रदेश के 16 मजदूरों के प्रति गहन शोक व्यक्त किया है.

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अन्य राज्यों में फंसे मजदूरों को सुरक्षित वापस लाने के लिए कंट्रोल रूम के हेल्प लाइन नंबर 0755—2411180 पर फोन कर अपनी जानकारी देने का अनुरोध किया है.

हादसे के बाद सीएम ने मंत्री मीना सिंह के साथ अधिकारियों को मौके पर पहुंचने के लिए रवाना किया. सीएम ने सभी मजदूरों के शवों को उनके घर तक पहुंचाने के निर्देश दिये हैं. इसके साथ ही सभी मृतकों के परिजनों को 5—5 लाख की राशि दिये जाने की घोषणा की है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here