क्या है फादर्स डे के पीछे की कहानी ?

0
156
आज पूरे विश्व में फादर्स डे मनाया गया. हर साल जून के तीसरे रविवार को फादर्स डे मनाया जाता है फादर्स डे की शुरूआत सबसे पहले वॉशिंगटन से हुई थी, तब से हर साल लोग इस खास दिन को मनाने में कोई कसर नहीं छोड़ते हैं. लाइफ में एक दोस्त की कमी को पूरा करने वाले पापा के लिए अपने प्यार का इजहार करने का इससे अच्छा मौका नहीं हो सकता. इस साल यह दिन 17 जून को सेलिब्रेट किया जा रहा है.
बता दें कि, लोगों का मानना है कि फादर्स डे पहली बार अमेरिका के पश्चिम वर्जीनिया में 5 जुलाई 1908 को सेलब्रेट किया गया था. दरअसल, इसके पीछे एक बड़ी घटना जुड़ी हुई है. 6 दिसंबर 1907 को पश्चिम वर्जीनिया के मोनोंगाह की एक फैक्ट्री में बड़ा हादसा हुआ था. जिसमें 362 लोगों की जान चली गई थी. और इस हादसे में करीब 1 हजार  बच्चों ने अपने पिता को हमेशा के लिए खो दिया था. तब से बच्चों की ओर से पिता को सम्मान देने के लिए ग्रेस गोल्डन क्लेटन नाम की एक महिला ने 5 जुलाई को फादर्स डे के रूप में सेलेब्रेट किया था.
वहीं कुछ लोगों का मानना है कि, यह दिन करीब 108 सालों से लगातार हर साल सेलिब्रेट किया जाता है और यह 1966 से मनाया जा रहा है. साल 1966 में अमेरिकी राष्ट्रपति लिंडन जॉनसन ने फादर्स डे को जून के तीसरे रविवार को मनाए जाने का फैसला किया था. और इसके बाद 1972 में राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन ने इस दिन यूनाइटेड स्टेट्स में छुट्टी की घोषणा कर दी गई. हालांकि फादर्स डे सबसे पहले अमेरिका के वॉशिंगटन में साल 1909 को मनाया गया था, जिसे वॉशिंगटन के स्पोकेन शहर में सोनोरा डॉड ने अपने पिता के लिए सेलिब्रेट किया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here