चीन आ रहा मोदी के चक्र व्यूह में !

0
193
पीएम नरेन्‍द्र मोदी ने शंघाई सहयोग संगठन SCO के सदस्‍य देशों के बीच आपसी संपर्क अच्छे करने की अपील की. जहां पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि, भारत ऐसी सभी संपर्क-परियोजनाओं का स्वागत करता है जो समावेशी, टिकाऊ और कारगर हों तथा जिनमें संबंधित देशों की क्षेत्रीय अखंडता और सम्प्रभुता का पूरा ध्यान रखा गया हो. पीएम नरेंद्र मोदी ने चाइना के साथ दो अहम समझौते हुए हैं. करार के तहत चीन ब्रह्मपुत्र का पानी छोड़ने से पहले भारत को सूचना देगा. साथ ही चीन ने भारत से बासमति के अलावा दूसरे किस्म के चावल खरीदने पर भी सहमति जताई है.वहीं शंघाई समिट में भारत ने चीन के बेल्ट एंड रोड प्रोजेक्ट के समर्थन से इनकार किया है बल्कि 8 देश इसका समर्थन कर रहा है.
पीएम मोदी ने अपने भाषण में अंग्रेजी के शब्‍द सीक्योर (SECURE) की नई परिभाषा दी.
जहां उन्होंने
S – सिक्‍योरिटी ऑफ अवर सिटिजन्स
E – इक्‍नामिक डेवलपमेंट फॉर ऑल
C – कनेक्‍टिंग द रिजन
U – यूनाइटेड अवर पीपुल
R – रिस्‍पेक्‍ट फॉर सॉवरेनिटी एंड इंटिग्रिटी
E – इन्‍वॉयरमेंट प्रोटेक्‍शन .
उन्होंने कहा कि, इन दिशाओं में सार्थक सहयोग से ही हमारा SCO सही मायनों में सेफ एंड कनेक्‍टेड आर्गनाइजेशन बन सकेगा. पीएम मोदी ने कहा कि, भारत आने वाले विदेशी पर्यटकों में से सिर्फ 6 प्रतिशत SCO देशों से आते हैं. उन्होंने कहा कि, साझा संस्कृति के बारे में जागरूकता बढ़ाकर इस संख्या को आसानी से दोगुना किया जा सकता है.
चीनी राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग ने आतंकवाद और अतिवाद से निपटने के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दोहराई और कहा कि, शंघाई सहयोग संगठन हमारी आस्‍था और भविष्‍य है.

भारत में विदेशी यात्रियों का केवल सिक्‍स परसेंट एससीओ देशों से आता है, इसको आसानी से दोगुना किया जा सकता है. हमारी साझा और सम्‍पन्‍न सांस्‍कृतिक विरासत के बारे में जागरूकता एससीओ देशों और भारत के बीच पर्यटन को बढावा दे सकती है. उन्होंने कहा कि, एक एससीओ फूड फेस्टिवल और साझा बुद्धिस्‍ट हेरीटेज की प्रदर्शनी का भारत में आयोजन करेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here