तंबाकू से जुड़े अनोखे तथ्य

0
248
आज विश्व तंबाकू निषेध दिवस है. वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन ने एक रिपोर्ट जारी की है. जिसमें कहा गया है कि, पिछली यानी 20वीं सदी में तंबाकू सेवन से मरने वालों की संख्या 10 करोड़ से ज्यादा थी. रिपोर्ट में दावा किया गया है कि, अगर हालात नहीं बदले तो 21वीं सदी में इससे मरने वालों का आंकड़ा 1 अरब के करीब पहुंच सकता है. जहां भारत हर साल 10 लाख लोगों की मौत तंबाकू सेवन से होती है.
दुनिया में सबसे ज्यादा स्मोकर्स चीन और इंडोनेशिया में हैं जहां 76% लोग स्मोकिंग करते है.
चीन की 1.3 अरब आबादी में करीब 31 करोड़ 50 लाख लोग आदतन स्मोकिंग करते हैं. दुनियाभर में बनने वाली एक तिहाई सिगरेट की खपत भी चीन में ही होती है.
भारत में विश्व के 12 प्रतिशत स्मोकर्स हैं.
विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक, दुनिया की करीब 7 अरब आबादी में 1 अरब लोग सिगरेट के जरिए तंबाकू का सेवन करते हैं. यानी हर 7 में से 1 शख्स इस खतरनाक आदत का शिकार है.
इंडोनेशिया में 15 साल के ऊपर के 76 प्रतिशत लोग स्मोकिंग करते हैं
सबसे चौंकाने वाली बात तो यह है कि, स्मोकिंग करने वाले 22 करोड़ लोग गरीब हैं. और 80 प्रतिशत आबादी निचले और मध्यम वर्गीय देशों में रहती है.
भारत में 16 की उम्र तक आते आते 24 प्रतिशत बच्चे किसी ना किसी रुप में तंबाकू का सेवन करे हैं
एक सर्वे के मुताबिक भारत में करीब 6.8 प्रतिशत महिलाएं भी हर दिन तंबाकू का इस्तेमाल करती हैं.
तंबाकू सेवन करने वालों की संख्या घट रही है.
हर साल दुनियाभर में होने वाले चिकित्सीय खर्च का करीब 6 फीसदी धूम्रपान के इलाज में खर्च होता है
दुनियाभर में तंबाकू पैदा करने के लिए स्विट्जरलैंड के क्षेत्रफल के बराबर जमीन लगती है.
हर साल दुनिया में करीब 46 लाख करोड़ रुपए की सिगरेट बिक्री होती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here