‘दिग्गी राजा ने आतंकवादी लादेन को समधी”जी” जैसा सम्मान क्यों दिया था’

0
129

भोपाल/शिवपुरी- भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य सुरेन्द्र शर्मा ने मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह द्वारा कल भोपाल में गिरफ़्तारी देने को मात्र नोटंकी करार देते हुये उनसे सवाल पूछा है कि गिरफ़्तारी देने वाले को पता नहीं होता कि वह रिहा कब होगा जबकि दिग्गी राजा का गिरफ़्तारी देने के समय से अगले दो दिन का यात्रा कार्यक्रम भी जारी हो चुका है।
सुरेन्द्र शर्मा ने कहा कि हो सकता है दिग्गी राजा अपने आप को गंगा जल से धुला हुआ पवित्र मानते हों लेकिन देश उनसे कुछ सवालों का जवाब जानना चाहता है पहला सवाल यह है कि दिग्गी राजा ने आतंकी ओसामा बिन लादेन को समधी समान आत्मीय संबोधन “ओसामा जी” क्यों कहा ,एक आतंकवादी को “जी”कहना ये रिश्ता क्या कहलाता है ?

दूसरा सवाल दिग्विजय सिंह जी ने अब देश द्रोह के आरोप में बंद ज़ाकिर नाईक के साथ पूर्व में न केवल मंच साझा किया बल्कि उसे “शांतिदूत” तक कहा क्या दिग्गी राजा की नज़र में जाकिर नाईक अब भी शांतिदूत है?
तीसरा सवाल यह है कि मुंबई पर 26/11 को हुये पाकिस्तानी आतंकवादी हमले को आपने हिंदूवादी संगठनों द्वारा किया गया हमला बताया था क्या यह आपके द्वारा पाकिस्तान की सीधे तौर पर मदद नहीं थी?
चौथा सवाल दिग्गी राजा आपने बटाला हाउस एनकाउंटर पर भी सवाल उठाये थे,इस एनकाउंटर में आतंकवादियों के साथ साथ इंस्पेक्टर मोहन चंद्र शर्मा भी शहीद हुये थे क्या आपका वह बयान इंस्पेक्टर शर्मा की शहादत को अपमानित करने वाला और उन आतंकवादी गतिविधियों में शामिल युवकों का समर्थन करने वाला नहीं था?
पांचवा सवाल दिग्गी राजा संसद हमले के आरोपी अफ़जल गुरु और मुंबई ब्लास्ट के आरोपी याकूब मेमन की फाँसी पर आप चुप क्यों रहे?
छटवां सवाल दिग्गी राजा एक तरफ़ आपकी पार्टी कहती है कि आतंकवाद का कोई मज़हब नहीं होता दूसरी तरफ़ आपने “हिंदू आतंकवाद” जैसे शब्द को जन्म दिया जबकि हिन्दू कभी आतंकवादी हो ही नहीं सकता क्या हिन्दू आतंकवाद कहकर आपने सम्पूर्ण हिन्दू समाज का अपमान नहीं किया?
सातवँ सवाल पिछली बार भी आप गिरफ़्तारी देने आये थे तब आपने आपकी सुरक्षा में तैनात जवान को थप्पड़ मारा था क्या आपका वह व्यबहार सुरक्षाबलों के प्रति आपकी नफ़रत को प्रदर्शित नहीं करता?
सुरेन्द्र शर्मा ने कहा कि सत्ता से दूर रहने पर काँग्रेस पार्टी और उसके नेता पानी के बिन मछली जैसी तड़प रहे हैं और जनता का ध्यान आकर्षित करने के लिये नैन मटक्का से लेकर सभी प्रकार की नोटंकी कर रहे हैं,कभी देश का नेतृत्व करने वाली काँग्रेस पार्टी आज स्तरविहीन नेतृत्व के कारण क्षेत्रीय पार्टीयों की पिछलग्गू बन कर रह गई है।
सुरेंद्र शर्मा ने कहा कि 15 साल से प्रदेश की सत्ता से बाहर और अब संगठन में हासिये पर आ चुके दिग्विजय सिंह एन केन प्रकरेण चर्चा में बने रहने के लिये कल भोपाल में गिरफ़्तारी की नोटंकी करने वाले हैं लेकिन ये पब्लिक है ये सब जानती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here