बजट सत्र से पहले राष्ट्रपति कोविंद का संबोधन

[नई दिल्ली] बजट सत्र से पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने संसद को दोनों सदनों को संबोधित किया.

इस दौरान उन्होंने सरकार की उपलब्धियों के बारें बताया.

उन्होंने कहा कि,पहली बार ऐसा अवसर आया है जब देश में बिजली क्षमता के विस्तार में लक्ष्य से अधिक बढ़ोतरी हुई है, अब भारत बिजली का नेट एक्सपोर्टर बन गया है और कहा कि, हम सभी के लिए गौरव की बात है कि कुंभ मेले को UNESCO ने ‘मानवता की अमूर्त सांस्कृति धरोहर ‘सूची में शामिल किया है, और अहमदाबाद को भारत की पहली ‘हेरिटेज सिटी’ का दर्जा दिया है, चेन्नई को क्रिएटिव सिटीज की सूची में यूनेस्को ने स्थान दिया है.

उन्होंने कहा कि, सरकार ने MaternityBenefitAct में बदलाव करके एक बड़ा कदम उठाया है, महिलाओं को 12 हफ्ते के स्थान पर वेतन सहित, 26 हफ्ते की छुट्टी का प्रावधान किया गया है, अब कामकाजी महिलाओं को अपने नवजात शिशुओं की देखभाल के लिए अधिक समय मिला करेगा.

कोविंद ने कहा कि, सरकार ने तीन तलाक के संबंध में एक विधेयक संसद में प्रस्तुत किया है, और आशा व्यक्त कि संसद शीघ्र ही इसे कानूनी रूप देगी.

उन्होंने कहा कि, तीन तलाक पर कानून बनने के बाद मुस्लिम बहन-बेटियां भी आत्म सम्मान के साथ जीवन जी सकेंगी. राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि, हम सबका दायित्व है कि जब 2019 में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मनाई जाए, तब तक हम देश को पूरी तरह स्वच्छ बनाकर पूज्य बापू के प्रति अपनी सच्ची श्रद्धा व्यक्त करें.

उन्होनें कहा कि, कमजोर वर्गों के लिए समर्पित सरकार संविधान में निहित मूलभावना पर चलते हुए देश में सामाजिक न्याय तथा आर्थिक लोकतंत्र को सशक्त करने और आम नागरिक के जीवन को आसान बनाने के लिए कार्य कर रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here