मुंगेली में भी शुरू हुआ मिड-डे-मील में अंडा देने का विरोध

मुंगेली में कबीरपंथी समाज के लोगों ने नगर में रैली निकाली और बड़ी संख्या में कलेक्टोरेट का घेराव करने सोमवार को पहुंचे.

मुंगेली में भी शुरू हुआ मिड-डे-मील में अंडा देने का विरोध

छत्तीसगढ़ के सरकारी स्कूलों में मिड डे मील में अंडा परोसने का विरोध मुंगेली जिले में भी शुरू हो गया है. मुंगेली में कबीरपंथी समाज के लोगों ने नगर में रैली निकाली और बड़ी संख्या में कलेक्टोरेट का घेराव करने सोमवार को पहुंचे. कबीर पंथियों का साफ कहना है कि स्कूल में मध्याह्न भोजन के मीनू से अंडे को हटाया जाये. इससे मांसाहार को बढ़ावा मिलेगा. इसे तत्काल प्रभाव से बंद कर देना चाहिए.

मुंगेली के ​कलेक्टोरे में विरोध करने पहुंचे लोगों ने मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा, जिसमें मिड डे मील से अंडा हटाये जाने की मांग की है. शिकायतकर्ताओं में शामिल हेमेन्द्र गुरु गोस्वामी ने बताया कि यदि मिड डे मिल में अंडा बांटने पर प्रतिबंध नहीं लगाने पर प्रदर्शन भी किया जााएगा. इस योजना से कबीरपंथियों की भावना को ठेस पहुंचा है. जैन समाज, ब्राह्मण समाज सहित कई समाज कबीरपंथियों के साथ मिलकर इसके विरोध में सामने आ रहा है. इसको लेकर विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा.

जैन समाज विरोध में 

अब जैन समाज ने भी मध्यान्ह भोजन में अंडा परोसने के फैसले का विरोध किया है। भारत वर्षीय दिगंबर जैन महासभा के प्रदेश अध्यक्ष गजेंद्र जैन ने कहा कि छत्तीसगढ़ में सभी एक-दूसरे के धर्म-समुदाय का सम्मान करते हैं। आंगनबाड़ी केंद्रों में सभी वर्ग के बच्चे पढ़ने जाते हैं। ऐसे में सरकार द्वारा यहां अंडा परोसना गलत है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here