सीने पर SC-ST लिखने के मामले में इन पर गिरी गाज

गृहमंत्री ने ट्वीट कर दी जानकारी

0
133

धार में आरक्षक भर्ती प्रक्रिया में सीने पर ST-SC लिखने के मामले में 2 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है. मध्यप्रदेश के गृहमंत्री ने मंगलवार को ट्वीट कर जानकारी दी है.

उन्होंने ट्वीट में कहा कि, ‘’धार में आरक्षकों की भर्ती मामले में जांच के बाद दोषी पाए गए जिला पुलिस बल के निरीक्षक नानूराम वर्मा व SAF दल के उप निरीक्षक नानूराम मोवेल को तत्काल निलंबित कर दिया गया है व दोषी चिकित्सकों पर कार्यवाही के लिए कलेक्टर को निर्देशित किया गया है’’

आपको बता दें कि, कुछ दिन पहले भर्ती प्रकिया के दौरान अभ्यार्थियों के सीने पर SC-ST लिख दिया था. जिसके बाद गृहमंत्री भूपेन्द्र सिंह ने जांच के आदेश दिए थे.

दरअसल यहां मेडिकल टेस्ट के दौरान आवेदकों की कैटेगरी बताने के लिए उनके सीने पर ही एससी-एसटी लिख दिया गया था. इस मामले में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी संज्ञान में लिया था.

शिवराज कैबिनेट ने किया बड़ा फैसला, इतने पदों पर निकाली भर्तियां

धार एसपी ने आवेदकों के साथ हुए इस तरह के गैर जिम्मेदाराना सलूक पर अधिकारियों की लापरवाही मानते हुए जांच की बात कही थी और मामले में धार पुलिस अक्षीक्षक वीरेन्द्र सिंह ने अजाक थाने के डीएसपी मालवीय को जांच के आदेश दे दिए थे. मेडिकल टेस्ट के दौरान मौजूद टीआई एनआर वर्मा ने इस घटना के लिए मेडिकल बोर्ड के सदस्य डॉक्टर जितेन्द्र चौधरी को जिम्मेदार ठहराया था. टीआई का कहना था, कि डॉ. चौधरी के कहने पर ही यह कदम उठाया गया था. वहीं दूसरी ओर डॉक्टर चौधरी ने टीआई के इस आरोप को सिरे से नकार दिया था.

मेडिकल बोर्ड में शामिल डॉक्टरों और बाकी अधिकारियों का कहना है, कि कुछ महीनों पहले महिला आरक्षक की ऊंचाई में गड़बड़ी सामने आने के बाद चयन प्रक्रिया में ज्यादा सावधानी बरतने के चलते ये कदम उठाया गया. साथ ही आरक्षित वर्ग की ऊंचाई नापने में कोई गड़बड़ ना हो, इसलिए उनके सीने पर पेन से एससी-एसटी लिख दिया गया.

आपको बता दें कि, पुलिस मुख्यालय की ओर से आवेदकों के सीने पर उनकी जातियां लिखने का निर्देश नहीं था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here