स्मार्ट फोन जितने स्मार्ट होंगे आप ! भोपाल में सीएम ने किया कमांड सेंटर का लोकार्पण

टूरिज्म का फेवरेट बनेगा भोपाल

0
106
भोपाल| भोपाल में गोविंदपुरा क्षेत्र में स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत कमांड एवं कंट्रोल सेंटर और इन्क्यूबेशन सेंटर का लोकार्पण किया गया. कार्यक्रम में सीएम शिवराज सिंह, केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह मौजूद रहे.
इस सेंटर से शहर में लगे सभी सेंसर्स पब्लिक ट्रांसपोर्ट बसों में लगे जीपीएस सेंसर्स, डायल-100 वाहन की स्थिति, 108 एम्बुलेंस की स्थिति, स्मार्ट पोल और स्मार्ट लाइट, ट्रैफिक मैनेजमेंट कैमरे, पब्लिक बाईक शेयरिंग, सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट, मौसम विभाग, सोलर पैनल्स, स्मार्ट मैप का डेटा स्टोर होगा.
अब एक ही छत के नीचे पूरे शहर की व्यवस्थाएं रियल टाईम में देखी जा सकेंगी. सेंटर से एमरजेंसी और आपदा मैनेजमेंट में इमीडेटली हेल्प मिलेगी. साथ ही एम्बुलेंस, फायर बिग्रेड, डायल-100 को इमफोर्मेशन दी जा सकेगी.
स्मार्ट सिटी योजना पीएम मोदी की सबसे पसंदीदा और महत्वाकांक्षी योजना है. इस योजना का मोटिव इंडिया में स्मार्ट सिटीज का निर्माण करना है जिससे भारतीय ग्लोबल प्लेटफॉर्म का ध्यान रखकर टूरिज्म को बढ़ावा दे सकें और अधिक संख्या में टूरिस्ट भारत आए.

स्मार्ट शहरों में क्या स्पेशल बात हो जो स्मार्ट फोन की तरह स्मार्ट कहलाएं. आइये जानते हैं स्मार्ट शहरों की स्मार्ट बातें…
हेल्थकेयर, सैनिटेक्शन, इन्फ्रास्ट्रक्चर, पारिस्थितिकी, शिक्षा और अवसर,
मौजूदा शहरों और कुछ अन्य छोटे शहरों को विकसित करने के लिए
स्मार्ट सिटीज में कंक्रीट, कांच और स्टील का पुराना शहर अब कंप्यूटर और सॉफ्टवेअर्स के आधार पर संचालित होगा.
स्मार्ट समाधानों में ई-गवर्नेंस और इलेक्ट्रॉनिक सर्विस डिलीवरी, वीडियो कैमरों से निगरानी, वॉटर मैनेजमैंट के लिए स्मार्ट मीटर, स्मार्ट पार्किंग और डिजीटल ट्रैफिक मैनेजमेंट शामिल हैं. ये सभी फैसेलिटी वर्ल्ड स्तर की होंगी.
साथ ही इन शहरों में फूड, हेल्थ, शिक्षा, कल्चर और शिल्प, खेल सामान, फर्नीचर, होजरी, कपड़ा आदि जैसे मुख्य आर्थिक गतिविधियों के आधार पर एक ब्रांड और एक पहचान प्राप्त होगी
स्मार्ट शहरों में आर्थिक विकास को बढ़ावा देने और अपने नागरिकों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार की संभावना है. ऐसी व्यवस्था होगी जिससे अपराध कम हों और लोग सुकुन से रह सकें.
गैस सिलेंडर के लिए लाइन लगने के बजाए, पाइपलाइन घर तक आएगी.
स्मार्ट सिटीज डिजिटल तो होगी ही बल्कि पर्यावरण का भी स्पेशल ध्यान रखा जाएगा. जहां जलवायु शुद्ध होगी लोग खुली हवा में सांस ले सकेंगे.
मनोरंजन की सभी सुविधाएं शापिंग मॉल, सिनेप्लेक्स सब वर्ल्ड स्तर कें होंगे. और एक विशेष प्रोग्राम के तहत होंगे.
सूचना और डिजिटल उपकरणों का बेहतर उपयोग करते हुए देखा जाएगा कि, फ्यूचर में लोगों की लाइफ को बदलने के लिए, और हमारे समाज में बढ़ती असमानता को कम करने की उनकी क्षमता के आधार पर किया जाएगा.
स्मार्ट शहर में लोगों के रहन-सहन में समानता दिखेगी, स्कूल-कॉलेज, अस्पताल, सभी अत्याधुनिक सुविधाओं से परिपूर्ण होंगे, सिटी के कूड़ेदान भी स्मार्ट होंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here