दुनिया में खेलों के हर प्रारुप में भारत ने अपना वर्चस्व बनाना शुरू कर दिया है. देश और विदेश में आयोजित होने वाली प्रतियोगिताओं में अब भारतीय खिलाड़ी अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देने की कोशिश करते नज़र आते हैं. इसमें खासकर महिला शक्ति खास भूमिका निभा रही है. बिलकुल भारत की हिमा दास ने आईएएएफ विश्व अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप के महिला 400 मीटर फाइनल में स्वर्ण पदक हासिल किया है.
आईएएएफ विश्व अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली वह पहली भारतीय महिला एथलीट बन गई हैं. लेकिन हिमा के लिए ये उपलब्धि आसान नहीं थी.शुरुआत में पिछड़ने के बाद आखिरी पलों में उन्होंने गोल्डन रेस पूरी की. हिमा की उपलब्धि पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पीएम नरेंद्र मोदी,कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत कई दिग्गज हस्तियों ने उन्हें बधाई भी दी है.

रेस में आधे से ज्यादा वक्त तक हिमा दास 4 धावकों से पीछे थीं. लेकिन जैसे-जैसे वो फिनिश लाइन के करीब आ रही थीं. उन्होंने अपने कदमों को और तेजी से बढ़ाना शुरू कर दिया. रेस खत्म होने से पहले हिमा ने सभी धावकों को पीछे छोड़ दिया.
18 साल की हिमा ने 51.46 सेकेंड में रेस पूरी की. रोमानिया की आंद्रिया मिकलोस ने 52.07 सेकेंड के साथ सिल्वर मेडल और अमेरिका की टेलर मेनसन ने 52.28 सेकेंड के साथ ब्रॉन्ज मेडल जीता. इससे पहले भारत की किसी भी महिला ने विश्व चैंपियनशिप के किसी भी स्तर पर स्वर्ण पदक नहीं जीता था.वह विश्व स्तर पर ट्रैक स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीतने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here