सरकार एक्ट ईस्ट् नीति में लाना चाहती है बदलाव

[गुवाहाटी]

सरकार एक्‍ट ईस्‍ट नीति में बदलाव लाना चाहती है इसमें पूर्वोत्‍तर क्षेत्र सबसे महत्‍वपूर्ण है कल गुवाहाटी में पीएम नरेन्‍द्र मोदी ने कहा कि, इस नीति के तहत पूर्वी देशों के लोगों के बीच सम्‍पर्क और व्‍यापार संबंध बढ़ाने की जरूरत है.

पीएम मोदी ने गुवाहाटी में विश्‍व निवेशक सम्‍मेलन एडवांटेज असम का उद्घाटन करते हुए कहा कि, पूर्वोत्‍तर क्षेत्र और वहां के लोगों के चहुंमुखी विकास से ही देश का तेजी से विकास हो सकता है. और भारत की ग्रोथ स्टोरी गति आयेगी. उन्होंने कहा कि, इम्फाल से लेकर के गुवाहाटी तक और कोलकाता से लेकर के पटना तक पूर्वी भारत के विकास का नया ऊर्जा केन्द्र बनना चाहिए.पीएम मोदी ने कहा कि, उनकी सरकार राष्‍ट्रीय बांस मिशन का पुनर्गठन कर रही है और इससे विशेषकर पूर्वोत्‍तर क्षेत्र के किसानों को लाभ होगा.

उन्होंने दिल्‍ली में आसियान- भारत सम्‍मेलन का जिक्र करते हुए गुवाहाटी में वाणिज्‍य दूतावास खोलने की बंग्लादेश और भूटान की पहल की प्रशंसा की.पीएम मोदी ने कहा कि,  निवेश  की दृष्‍ट‍ि से भारत दुनिया का  सबसे आकर्षक देश बन गया है.उन्होंने कहा कि, पिछले वित्‍त वर्ष के दौरान देश में 60 अरब डॉलर का प्रत्‍यक्ष निवेश हुआ है.

पीएम मोदी ने कहा कि, उनकी सरकार ने प्रशासन की कार्यशैली में बदलाव किया है.सरकार चाहती है कि सभी कार्यक्रम लक्ष्‍य से पहले पूरे कर लिए जाएं. साथ ही सरकार आम लोगों के जीवनस्‍तर में बदलाव लाने के लिए प्रतिबद्ध है.

मोदी ने बजट में घोषित स्‍वास्‍थ्‍य बीमा, गरीबों के लिए रसोई गैस कनेक्‍शन और कर व्‍यवस्‍था में पारदर्शिता का जिक्र करते हुए कहा कि इन सभी योजनाओं से लोगों के जीवन स्‍तर में बदलाव आएगा.

सम्‍मेलन के पहले दिन कई बड़े उद्योगपतियों ने असम में निवेश के प्रस्‍तावों की घोषणा की है. पहले ही दिन 60 हजार करोड़ रुपए के 160 समझौता पर हस्‍ताक्षर किए गए है.

कार्यक्रम में भूटान के प्रधानमंत्री दाशो त्‍शेरिंग तोब्‍गे, कई केन्‍द्रीय मंत्री और असम, अरुणाचल प्रदेश तथा मणिपुर के मुख्‍यमंत्री और 16 देशों के राजदूत तथा कुछ दिग्‍गज उद्य़ोगपति उद्घाटन समारोह में उपस्‍थित थे.वहीं केन्‍द्रीय उद्योग और वाणिज्‍य मंत्री सुरेश प्रभु, पूर्वोत्‍तर क्षेत्र विकास मंत्री जितेन्‍द्र सिंह भी इस अवसर पर मौजूद थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here