500 करोड़ रूपये से नए तालाबों का होगा निर्माण

0
102

सीहोर| सीहोर जिले के ईंटखेड़ी छाप में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जल संसद में शामिल हुए. कार्यक्रम में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ईंटखेड़ी छाप में कोलांस नदी के गहरीकरण के लिये श्रमदान का भी शुभारंभ किया.

इस दौरान सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, भू-जल स्तर निरंतर गिर रहा है.इसे रोकने के लिये प्रदेश में जन-सहयोग से जल-संरक्षण और संवर्धन का महाभियान चलाया जाएगा. पुराने तालाबों और नदियों का गहरीकरण किया जायेगा.साथ ही इस वर्ष 500 करोड़ रूपये से नये तालाबों का निर्माण किया जायेगा.

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, इस वर्ष 15 जुलाई से वृक्षारोपण का अभियान भी शुरू होगा. इसके लिए उन्होंने संपूर्ण समाज इस अभियान में शामिल होने की बात कही.

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, मनुष्य द्वारा औद्योगिकीकरण और भौतिकता की चाह में प्राकृतिक संसाधनों का अंधाधुंध दोहन किया गया है. इससे अनेक प्राकृतिक आपदाएं उत्पन्न हुई हैं. और वर्षा कम और अनियमित होने लगी है.

उन्होंने पर्यावरण पर चिंता व्यक्त करेत हुए कहा कि, पर्यावरण बिगड़ रहा है, नदियां सूख रही हैं और सतही जल लगातार घट रहा है. धरती पर सूखे का संकट पैदा हो रहा है.जिससे धरती की सतह का तापमान लगातार बढ़ रहा है. जो वर्ष 2050 तक दो डिग्री सेल्सियस तक बढ़ जायेगा. इससे ग्लेशियर पिघलेंगे, समुद्र का जल-स्तर बढ़ेगा और बाढ़ जैसी समस्याएं पैदा होंगी.

वहीं सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, इन समस्याओं का पूरी दुनिया और देश सामना कर रहा है. ये समस्याएं क्यों पैदा हुईं, यह सभी के लिये चिंता और सोचने का विषय है. अगर हम अभी नहीं चेते तो आने वाली पीढ़ियों के लिये भारी संकट पैदा होगा. यह धरती मनुष्यों के साथ पेड़-पौधों और जीव-जंतुओं के लिये भी है.उन्होंने कहा कि प्राकृतिक संसाधनों का शोषण नहीं दोहन करना चाहिए। वृक्ष वर्षा जल को अवशोषित करते हैं जिससे भू-जल स्तर बढ़ता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here